Home Punjab आपके नेता रघु चड्ढा बोले-दलित छात्रवृत्ति घोटाले में शामिल कैप्टन अमरिंदर सिंह...

आपके नेता रघु चड्ढा बोले-दलित छात्रवृत्ति घोटाले में शामिल कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार

121
0

डिजिटल ब्यूरो, अमर उजाला, नई दिल्ली

द्वारा प्रकाशित: हरिंदर चौधरी
अंतिम शुक्रवार, 18 जून, 2021 शाम 7:42 बजे IST

सार

रघु चड्ढा ने कहा कि दलित वर्ग के दो लाख छात्रों के रोल नंबर जारी होने तक आम आदमी पार्टी का संघर्ष जारी रहेगा. हम हर दिन सरकार के खिलाफ आवाज उठाएंगे और उसे अपना फैसला बदलने के लिए मजबूर करेंगे…

आम आदमी पार्टी के नेता रघु चड्ढा
– तस्वीरें: एजेंसी (फाइल फोटो)

खबर सुनें

आम आदमी पार्टी के पंजाब प्रभारी रघु चड्ढा ने कहा है कि जिस तरह से दलित छात्रों की छात्रवृत्ति से घोटाला हुआ है, उससे साबित होता है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार दलित विरोधी है. अब जब यह घोटाला सामने आया है और लोग इसका विरोध कर रहे हैं तो सरकार दोषियों को सजा देने की बजाय उन्हें बचाने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार को अगले विधानसभा चुनाव में इस कृत्य की कीमत चुकानी पड़ेगी.

रघु चड्ढा ने कहा कि दलित वर्ग के दो लाख छात्रों के रोल नंबर जारी होने तक आम आदमी पार्टी का संघर्ष जारी रहेगा. हम हर दिन सरकार के खिलाफ आवाज उठाएंगे और उसे अपना फैसला बदलने के लिए मजबूर करेंगे। उन्होंने कहा कि निराश्रित छात्रों की मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति राशि में कांग्रेस सरकार द्वारा किए गए घोटाले के खिलाफ उनकी भूख हड़ताल तब तक जारी रहेगी जब तक कि सरकार उन्हें उनके हितों की सुरक्षा का आश्वासन नहीं देती।

विस्तृत

आम आदमी पार्टी के पंजाब प्रभारी रघु चड्ढा ने कहा है कि जिस तरह से दलित छात्रों की छात्रवृत्ति से घोटाला हुआ है, उससे साबित होता है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार दलित विरोधी है. अब जब यह घोटाला सामने आया है और लोग इसका विरोध कर रहे हैं तो सरकार दोषियों को सजा देने की बजाय उन्हें बचाने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार को अगले विधानसभा चुनाव में इस कृत्य की कीमत चुकानी पड़ेगी.

रघु चड्ढा ने कहा कि दलित वर्ग के दो लाख छात्रों के रोल नंबर जारी होने तक आम आदमी पार्टी का संघर्ष जारी रहेगा. हम हर दिन सरकार के खिलाफ बोलेंगे और उसे अपना फैसला बदलने के लिए मजबूर करेंगे। उन्होंने कहा कि निराश्रित छात्रों की मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति राशि में कांग्रेस सरकार द्वारा किए गए घोटाले के खिलाफ उनकी भूख हड़ताल तब तक जारी रहेगी जब तक कि सरकार उन्हें उनके हितों की सुरक्षा का आश्वासन नहीं देती।

Previous articleउत्तराखंड सरकारी नौकरियों में रिक्तियों की भर्ती नौकरी समाचार जल्द
Next articleइस साल भी एनओडीबीके के सामने सैकड़ों परिवार भारत-चीन व्यापार कोरोना संकट से प्रभावित थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here