Home Uttarakhand उत्तराखंड में अनियंत्रित आग, अब तक 249.95 हेक्टेयर प्रभावित

उत्तराखंड में अनियंत्रित आग, अब तक 249.95 हेक्टेयर प्रभावित

195
0

यह दो सप्ताह से अधिक हो गया है, लेकिन वाइल्डफायर शामिल नहीं किया गया है।  (फाइल फोटो)

यह दो सप्ताह से अधिक हो गया है, लेकिन वाइल्डफायर शामिल नहीं किया गया है। (फाइल फोटो)

जंगल की आग से लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। वहीं, कई जानवर आग की वजह से आग की चपेट में आ जाते हैं।

देहरादून उत्तराखंड में जंगल की आग घटने के बजाय बढ़ती जा रही है। हालांकि, वन विभाग और सरकार इसे नियंत्रित करने के लिए दैनिक आधार पर काम कर रहे हैं। भारतीय वायु सेना से भी सहायता मांगी गई है। इतने पर भी आग नहीं बुझी है। ऐसे में लोगों को उम्मीद है कि बारिश आग को बुझा देगी। हालांकि, जंगल की आग के कारण करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है। वहीं, आग की वजह से कई जानवर आग की चपेट में आ जाते हैं। बता दें कि रविवार को राज्य भर में 24 घंटों में 60 घटनाएं हुई थीं। सोमवार को इनकी संख्या बढ़कर 160 हो गई। चूंकि घटना बढ़ जाती है, इसलिए वन संसाधनों को नुकसान होता है।

रिपोर्टों के अनुसार, दो सप्ताह से अधिक समय बीत चुके हैं, लेकिन अभी तक जंगल की आग को नियंत्रण में नहीं लाया गया है। वन विभाग के बुलेटिन के अनुसार, राज्य में 249.95 हेक्टेयर भूमि आग से प्रभावित हुई है, जिसमें से 120 हेक्टेयर आरक्षित वन क्षेत्र हैं और 40 हेक्टेयर नागरिक और वन पंचायतें हैं। इसमें 86 गढ़वाल डिवीजनों में से आधे से अधिक की घटनाएं हुई हैं। इसमें भी, पुरी गढ़वाल के क्षेत्र में वन सबसे अधिक रहे हैं।

यूट्यूब वीडियो

यह 61.84 मिलियन अनुमानित है।इसी बीच 10 अप्रैल को सूचना मिली कि उत्तराखंड में जंगल की आग भड़की हुई है। आग का लक्ष्य इस साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ना है। विभागीय आंकड़ों के मुताबिक, आग में अब तक 17 जानवरों की मौत हो गई है। 22 जानवर घायल हुए हैं। इसमें सभी अतिरिक्त मवेशी हैं। यानी इस बात की कोई गिनती नहीं है कि कितने जंगली जानवरों की मौत हुई है। न ही वन विभाग के पास इसका कोई रिकॉर्ड है। वन विभाग ने आग से अब तक 6.184 मिलियन की क्षति का अनुमान लगाया है।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here