Home Uttar Pradesh उत्तर प्रदेश (यूपी) पंचायत चुनाव 2021 नवीनतम अपडेट अंतिम चरण में...

उत्तर प्रदेश (यूपी) पंचायत चुनाव 2021 नवीनतम अपडेट अंतिम चरण में मतदान के दौरान अलीगढ़ बहराइच सीतापुर मटौर में हिंसा अलीगढ़ में हिंसक डकैती, सीतापुर में बाढ़, मथुरा-बहराइच में लड़ाई, पत्थरबाजी और गोलीबारी

277
0

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार के लिए डायनाक भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

सीतापुर / बहराइच / अलीगढ़ / मथुरा33 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

उत्तर प्रदेश के 17 जिलों में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के चौथे और अंतिम चरण के लिए आज मतदान हो रहा है। कुल 20 मिलियन मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इस अवधि के दौरान, 5.5 मिलियन से अधिक उम्मीदवार दांव पर हैं। लेकिन इस बीच, सीतापुर, मथुरा, अलीगढ़ और बहराइच में हमले, पथराव और गोलीबारी हुई है। कई लोग घायल हुए हैं। इस बीच, सीतापुर में मतपेटी में पानी डाला गया, फिर अलीगढ़ में मतपेटी वापस करने का प्रयास किया गया। फिलहाल पुलिस ने बदमाशों की पहचान कर ली है और एक ऑपरेशन शुरू किया है। इस बीच, स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने बल प्रयोग किया है।

सीतापुर: मतदान के दौरान हिंसा और पत्थरबाजी

सीतापुर के अमलिया सुल्तानपुर थाना क्षेत्र के ग्राम सभा हमरी शेखपुर में फर्जी मतदान के दौरान दो पक्ष आपस में भिड़ गए। संघर्ष के दौरान पत्थर और गोलियां भी चलाई गईं। सूत्रों के मुताबिक, हमीरी निवासी जय प्रकाश सिंह उर्फ ​​मंटो इस पद के प्रमुख थे। वह प्रधानमंत्री के लिए दौड़ा। दूसरे पक्ष का आरोप है कि मंटो सिंह को अपने उम्मीदवार को जिताने के लिए अवैध वोट मिले। दूसरे पक्ष का यह भी आरोप है कि बीएलओ के शामिल होने के बाद मंटो सिंह ने दूसरी पार्टी से लगभग 150 वोट प्राप्त किए। इसका विरोध करते हुए मंटो सिंह ने समर्थकों पर पथराव किया और गोलियां भी चलाईं।

घटना के बाद एएसपी राजीव दीक्षित, सीओ अभिषेक प्रताप, एसडीएम महोली और एडीएम ने स्थिति को नियंत्रण में किया। पुलिस का कहना है कि जनता को दंगों में शामिल करके कानूनी कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है। इस बीच, तालगांव के समीसा गाँव के लोगों ने बैलेट बॉक्स को वापस करने की कोशिश की और जब यह सफल नहीं हुआ, तो उन्होंने उसमें पानी डाला।

भीड़ को नियंत्रित करने के लिए, पुलिस ने नांसुही मतदान केंद्र पर लाठी चार्ज किया।

भीड़ को नियंत्रित करने के लिए, पुलिस ने नांसुही मतदान केंद्र पर लाठी चार्ज किया।

इस बीच, कोतवाली ग्रामीण क्षेत्र के शाह मोहली क्षेत्र के नानशुई मतदान केंद्र पर मतदान के दौरान हंगामा हुआ। यहां मतदान केंद्र पर मौजूद महिलाओं ने मतदाता सूची में अपना नाम न दिखाने पर बड़ा उपद्रव किया। मतदान केंद्र पर हंगामा होने की सूचना मिलते ही पुलिस बल मौके पर पहुंचा और महिलाओं को आश्वस्त किया। लेकिन महिलाओं को गुस्सा आ गया। गुस्साई भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने महिलाओं पर लाठियां चलाईं। इंस्पेक्टर कोतवाली के गांव ओपी तिवारी ने महिलाओं को कोसा। जिसके बाद भीड़ वहां से भाग गई। हंगामे के आधे घंटे बाद मतदान फिर शुरू हुआ।

अलीगढ़: वाहनों में बैलेट बॉक्स, बर्बरता लौटाने का प्रयास
अकराबाद थाने के अलीपुर गांव में उस समय अराजकता फैल गई जब कुछ लोगों ने मतपेटियों को लूटकर भागने का प्रयास किया। जब उन्हें रोकने की कोशिश की गई तो पुलिस पर पथराव किया गया। इतना ही नहीं, हमलावर भाग गए और पुलिसकर्मियों को पीटा। उपद्रवियों ने पुलिस की गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की।

कहा जाता है कि फर्जी मतदान को लेकर ग्रामीण आक्रोशित हो गए और प्रशासन का अपमान करने लगे। इतना ही नहीं, पुलिस प्रशासन ने ग्रामीणों को खुश करने की पूरी कोशिश की। लेकिन उन्होंने नहीं पूछा और मतपत्र वापस करने के बाद भाग गए। जिसके बाद पुलिस ने खेतों में उनका पीछा करने की कोशिश की। लेकिन उन्होंने पुलिस को वापस आते देखा और उन पर पत्थर फेंके। बल के आने के बाद से स्थिति शांत हुई है।

फोर्स गांव में तैनात है।

फोर्स गांव में तैनात है।

हमले में सैनिक घायल हो गए।

हमले में सैनिक घायल हो गए।

मथुरा: लड़ाई और गोलीबारी में 10 लोग घायल हो गए
मथुरा के बरसाना इलाके के नेहरा गांव में फर्जी मतदान की रिपोर्ट को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़ गए। मलखान सिंह और सियाराम के बीच टकराव ने गंभीर मोड़ ले लिया और फिर दोनों पक्षों में लाठी डंडे चले। फायरिंग भी हुई थी। विवाद ने कुछ समय के लिए मतदान प्रक्रिया को भी प्रभावित किया। वहीं झड़पों में करीब 10 लोग घायल हो गए। जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया। एसएसपी गोराऊ ग्रोवर, जिला मजिस्ट्रेट गैरेट चहल फोर्स के साथ चुनाव के दौरान हिंसा की एक रिपोर्ट पर गांव पहुंचे और दंगाइयों, सियाराम और मलखान सिंह सहित 12 लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस की भारी टुकड़ी फिलहाल मौके पर तैनात है।

मथुरा में, दो उम्मीदवारों का एक समूह नाराज हो गया।

मथुरा में, दो उम्मीदवारों का एक समूह नाराज हो गया।

बहराइच: पत्थरबाजी के परिणामस्वरूप दो उम्मीदवारों के समर्थक आपस में भिड़ गए, 14 घायल हो गए
खैराघाट थाना क्षेत्र के संकल्प मतदान केंद्र पर सुबह से ही मतदान चल रहा था। लोग वोट डालने के लिए अपनी बारी के इंतजार में लाइन में खड़े थे। इस बीच, फर्जी मतदान को लेकर अचानक बहस हुई और दोनों उम्मीदवारों के समर्थकों के बीच बहस शुरू हो गई। दोनों पक्ष मतदान केंद्र से बाहर निकल गए और दोनों पक्षों में लड़ाई शुरू हो गई। इस दौरान समर्थकों ने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। जब तक लोग कुछ समझ पाते, दोनों ओर से जमकर पत्थरबाजी हुई। दोनों पक्षों के करीब 14 लोग घायल हो गए। जब पुलिस ने उठकर पत्थर की सूचना दी, तो वे भाग गए। खीरी घाट पुलिस स्टेशन और मलिश सिंह ने कहा कि लाइन में खड़े होने पर झगड़ा हुआ था। कुछ लोगों ने उसे पत्थर मार दिया होगा। जब पुलिस बल पहुंचा तो सभी भाग गए। इस संबंध में अब तक कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है।

और भी खबर है …
Previous articleसकारात्मक भारत: पत्नी के गहने बेचना और कारों में ऑक्सीजन लगाना और मरीजों को मुफ्त सेवाएं प्रदान करना
Next articleकैरन खेर ने रु। वेंटिलेटर के लिए 1 करोड़। अनुपम खेर एक गर्वित पति हैं: बॉलीवुड समाचार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here