Home Himachal Pradesh कांगड़ा में दो गुटों में भिड़ंत, पीजीआई चंडीगढ़ में एक घायल की...

कांगड़ा में दो गुटों में भिड़ंत, पीजीआई चंडीगढ़ में एक घायल की मौत hpvk

199
0

  घायल लोगों को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था.

घायल लोगों को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था.

Two groups clash in Kangra: ग्रामीणों का आरोप और वायरल वीडियो के आधार पर पुलिस ने हमला करने वाले गुट के 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जिसमें तीन महिलाएं भी शामिल हैं. अभी घटनास्थल पर पुलिस जांच कर रही है. एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन ने बताया कि मामले की निष्पक्षता के साथ जांच की जाएगी.

धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) जिले में शुक्रवार को दो गुटों में जमीन विवाद को लेकर हुई खूनी झड़प में घायल एक शख्स की चंडीगढ़ में पीजीआई में मौत हो गई है. झड़प में कुल पांच लोग घायल हुए थे, इनमें से दो को पीजीआई चंडीगढ़ रेफर किया गया था. अब चंडीगढ़ में शख्स ने दम तोड़ा है.

जानकारी के अनुसार, कांगड़ा के वीरता में शुक्रवार को जमीनी विवाद को लेकर दो गुटों में झगड़ा हो गया. झगड़ा इतना बढ़ गया कि एक गुट ने हथियार ही चला दिए, जिसमें महिलाएं भी शामिल थीं. दराट से हुए हमले में एक गुट के पांच लोग घायल हो गए हैं, जिसमें दो गंभीर रूप से घायल हैं, जिन्हें टांडा में पीजीआई के लिए रेफर कर दिया है.

हाईवे किया था जाम

वारदात से गुस्साए लोगों ने वीरता चौक में चक्का जाम कर दिया था और एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन ने मौके पर पहुंचकर लोगों को शांत करवाया और जाम को खुलवाया. उस दौरान परिवार के एक सदस्य की मौत हो जाने की भी किसी ने अफवाह उड़ा दी उसके बात मौके पर हालात इतने बद्दतर हो गये  थे और मौके पर पहुंचे DSP सुनील राणा और SDM अभिषेक वर्मा की भी लोगों ने एक न सुनी. दरअसल, लोग इसी बात को लेकर ज़्यादा आक्रोशित थे कि जब पीड़ित परिवार ने पहले ही इस बाबत पुलिस स्टेशन में तहरीर दी थी तो इस मामले को संजीदगी से क्यों नहीं लिया गया. आरोप ये भी है कि इन परिवारों के बीच पहले भी इसी तरह से आपसी झगड़ा हो चुका है. उस दौरान कालू राम सपुत्र सतपाल निवासी गांव बीरता पर सुभाष चंद और उनके परिवार के लोगों द्वारा मारपीट करने का आरोप लगा था.

महिला ने हाईवे को जाम कर दिया था.

थाने में शिकायत

दो गुटों के बीच पिछले कुछ समय से विवाद चल रहा था और दो दिन पूर्व दोनों गुटों ने पुलिस थाना कांगड़ा में शिकायत भी दर्ज करवाई थी. इसके बावजूद कोई कार्रवाई न होने पर शुक्रवार सुबह दोनों गुटों के लिए लड़ाई हो गई. एक गुट के लोगों ने दराट लेकर हमला कर दिया. आरोप है कि करतार चन्द सपुत्र सूजा राम और उनके पुत्र राजेंद्र कुमार, रविन्द्र , रोविन समेत दो लड़कियों ने राकेश कुमार सपुत्र जीत सिंह व सुभाष चंद पुत्र धर्मपाल के घर पर जाकर तेज़धार हथियार से हमला किया और इस हमले में राकेश कुमार सपुत्र जीत सिंह निवासी गांव बीरता, धर्मपाल (80) पुत्र सूजा राम निवासी गांव बीरता, उमा शंकर (58) सपुत्र धर्मपाल निवासी गांव बीरता गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें टांडा मेडिकल कालेज अस्पताल में ले जाया गया है, जहां डॉक्टरों ने गंभीर रूप से घायल राकेश व सुभाष को पीजीआई चंडीगढ़ के लिए रेफर कर दिया है. सुभाष की अब मौत हो गई है.

यूट्यूब वीडियो

नौ लोग गिरफ्तार

ग्रामीणों का आरोप और वायरल वीडियो के आधार पर पुलिस ने हमला करने वाले गुट के 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जिसमें तीन महिलाएं भी शामिल हैं. अभी घटनास्थल पर पुलिस जांच कर रही है. एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन ने बताया कि मामले की निष्पक्षता के साथ जांच की जाएगी.




Previous articleमेरठ में पुलिस प्रशिक्षण केंद्रों में बारिश का पानी भर गया है, और रंगरूटों को टनशेड में अभ्यास करना पड़ता है। बाढ़ के कारण फील्ड रंगरूटों का प्रशिक्षण। “अभ्यास निर्धारित स्थानों पर आयोजित किया जा रहा है,” अधिकारी ने कहा
Next articleबिग बॉस 15 में सेलिब्रिटीज के सामने प्रेस करेंगे आम लोग, होगा शानदार टर्न

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here