Home Bihar ग्रामीणों ने भगोड़े प्रेमियों को पकड़कर केरोसिन डालकर जिंदा जलाने का प्रयास...

ग्रामीणों ने भगोड़े प्रेमियों को पकड़कर केरोसिन डालकर जिंदा जलाने का प्रयास किया – News 18 Hindi

32
0

ام. बिहार के जमोई जिले के लक्ष्मीपुर थाना क्षेत्र से एक बड़ी खबर सामने आई है. इधर हरमा के पहाड़ी गांव में ग्रामीणों ने प्रेमी जोड़े को पकड़कर पेड़ व बिजली के खंभे से बांध दिया. इसके बाद उस पर हमला किया गया। आरोप है कि दंपत्ति बिजली के खंभे और पेड़ से बांधकर जिंदा जलाने की तैयारी कर रहे थे। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और प्रेमी जोड़े को ग्रामीणों के कब्जे से छुड़ाया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक कुछ दिन पहले चार बच्चों की मां गरजा देवी अपने बॉयफ्रेंड रंजीत दास के साथ भाग गई थी. भगोड़े दंपत्ति को ग्रामीणों ने पकड़ लिया और फिर गांव लाकर पेड़ से बांधकर बुरी तरह पीटा। प्रेमी युगल, एक महिला और एक युवक हरमा के पहाड़ी गांव का रहने वाला बताया जा रहा है.

मैं कई सालों से प्यार में हूं
दरअसल, हरमा पहाड़ी गांव की महिला गरिजा देवी और उसी गांव के युवक रंजीत दास के बीच कई साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था. पांच दिन पहले दोनों के परिवारों में कहासुनी हुई थी। उसके बाद चार बच्चों की मां गरिजा देवी अपने प्रेमी को लेकर भाग गई। शुक्रवार की सुबह कुछ ग्रामीणों ने उन्हें लक्ष्मीपुर क्षेत्र के जंगल में पकड़ लिया और फिर गांव ले आए. गांव लाकर ग्रामीणों ने महिला को बिजली के खंभे और युवक को पेड़ से बांध दिया. बांधने के बाद उन्हें बुरी तरह पीटा गया और फिर उन पर मिट्टी का तेल डालकर जिंदा जलाने का प्रयास किया।

पुलिस ने बचाया
सूचना मिलने के बाद लक्ष्मीपुर थाना की टीम मौके पर पहुंची और दोनों को ग्रामीणों के कब्जे से मुक्त कराया. प्रेमी जोड़े को थाने लाया गया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। दोनों के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। मामले की पुष्टि करते हुए एसपी प्रमोद कुमार मंडल ने बताया कि पुलिस को जैसे ही सूचना मिली कि प्रेमियों को बांधकर पीटा जा रहा है और जिंदा जलाने का प्रयास किया जा रहा है, पुलिस बिना देर किए मौके पर पहुंच गई. लिया गया है

पढ़ते रहिये हिंदी समाचार अधिक ऑनलाइन देखें See लाइव टीवी न्यूज़18 हिंदी वेबसाइट। देश-विदेश और अपने राज्य, बॉलीवुड, खेल जगत, व्यवसाय के बारे में जानें हिन्दी में समाचार.

Previous articleउन्होंने लोक पर्व हरिला की बधाई देकर उत्तराखंड के पिछड़े नेताओं को हराया
Next articleराजस्थान में ग्रामीणों ने बिना सरकारी सहायता के 45 लाख रुपये का बांध बनाया। सफलता की कहानी – ग्रामीणों की भावनाओं को प्रणाम, बिना सरकारी सहयोग के 45 लाख का बांध बनाया। समाचार18

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here