Home Chhattisgarh कोंडागाँव मे कोविड नियमो का उल्लंघन कर खोली जा रही दुकानें ,...

कोंडागाँव मे कोविड नियमो का उल्लंघन कर खोली जा रही दुकानें , 5 दुकानें सील

33
0
कोंडागाँव मे कोविड नियमो का उल्लंघन कर खोली जा रही दुकानें , 5 दुकानें सील

 तस्वीर कोंडागांव की है।  अधिकारियों ने शहर के सभी व्यापारियों से लापरवाही नहीं बरतने को कहा है, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।  - वंश भास्कर

तस्वीर कोंडागांव की है। अधिकारियों ने शहर के सभी व्यापारियों से लापरवाही नहीं बरतने को कहा है, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

कोंडागांव जिले में लापरवाही का एक बड़ा मामला प्रकाश में आया है। जिले में धारा 144 के लागू होने के बाद भी, सामाजिक दूरी तय किए बिना, व्यावसायिक नियम बनाए जा रहे हैं। महत्वपूर्ण बात यह है कि जिन दुकानदारों के परिवार के सदस्य संक्रमित थे, वे भी दुकान खोल रहे हैं। इससे सैकड़ों लोगों के प्रभावित होने का खतरा बढ़ गया। प्रशासन ने अब ऐसे पांच ऑपरेटरों के खिलाफ कार्रवाई की है। प्रशासन ने घर अलगाव के नियमों का पालन नहीं करने के लिए 5 दुकानों को सील कर दिया है।

इन दुकानों को सील कर दिया गया
प्रबंधन ने लापरवाह शहर के बस स्टैंड में स्थित होटल साई पैलेस, किचन रेस्तरां, ड्रीम्स ब्यूटी पार्लर, कोशल कलेक्शन और बिग बॉस सैलून को सील कर दिया है। जिला प्रशासन को शिकायत मिली जिसके बाद प्रशासन ने कार्रवाई की है।

अधिकारियों को कुप्रबंधन का सामना करना पड़ता है
इससे पहले, जब प्रबंधन टीम दुकानों को समझाने के लिए जांजगीर में शॉन नारायण के पास गई थी, तो दुकान संचालक ने महिला एसडीएम का अपमान किया था, इतना ही नहीं उसने एसडीएम से भी हाथ मिलाया था। कोंडागांव जिले में लॉकडाउन लागू नहीं किया गया है, लेकिन कोरोना संक्रमण में और वृद्धि को रोकने के लिए जिले में सख्त कार्रवाई की गई है। जिले में केवल दोपहर 3 बजे तक दुकानें खोलने की अनुमति है, लोग 10 बजे तक रेस्तरां से फूड पार्सल उठा सकते हैं।

कोंडागांव में अब तक कम से कम 40 लोग मारे गए हैं
अगर हम जिले में कोरोना संक्रमण के मामलों के बारे में बात करते हैं, तो गुरुवार को जिले में 52 कोरोना सकारात्मक रोगी पाए गए। जिले में अब तक 5999 कोरोना मरीज मिले हैं। जबकि 5495 मरीज ठीक हुए हैं। पिछले एक साल में अब तक कोरोना से 40 लोगों की मौत हो चुकी है। जिले में अब 464 सक्रिय मरीज हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here