Home Jeewan Mantra जानिए खुद को और क्या है परामर्श :भूमिका गिजरे

जानिए खुद को और क्या है परामर्श :भूमिका गिजरे

522
0

BHUMIKA GIJARE

DIRECTOR -B FUTURISTIC COUNSELING & CONSULTANCY

PSHYCOLOGY COUNSELOR /NEUROLOGICALCOACH

LIFE COACH

CERTIFED CAREER COUNSELOR& CONSULTANT

CONTACT:9589205399

हम सभी  आज के इस युग में कई अलग अलग परिस्थितियों का अनुभव कर रहे है| सभी व्यक्ति अपनी रोजमर्रा की दौड़ भाग भरी जिंदगी मे गुम है|कोई दुखी है तो कोई  बेहद खुश है कोई  मायूस है तो कोई भ्रमित है|

अब हम यह कह सकते है कि हम यह नहीं जानते कि हम चाहते क्या है? सभी व्यक्ति किसी न किसी तलाश मे भाग रहा है|सब कुछ हासिल होते हुये भी संतुष्टि आनंद सिर्फ कुछ ही व्यक्ति अनुभव कर पाते है,जो जानते है कि उन्हे क्या और कितना मिलना चाहिए| यह बात हर आयु वर्ग के व्यक्तियों पर लागू होती है,चाहे वह छोटा बच्चा हो ,किशोर हो, नौजवान हो, या वृद्ध हो, आत्म संतुष्टि सभी व्यक्तियों के लिए अत्यंत ही महत्वपूर्ण है, और  शायद यही कारण है की आज कल के  बच्चों मे बचपना, युवाओं मे आदर,बुजुर्गों मे चैन व सुख कुछ गायब सा नज़र आता है| यह बड़ी ही विचित्र  पारिस्थिति है सब कुछ होते हुये भी हम अपनी खुशी या संतुष्टि या तो देख नहीं पा रहे है या देखकर भी अनदेखा कर रहे है|

इन सब बातों की जिम्मेदार हमारी सोच है जो हमारे मन या बुद्धि से नहीं बल्कि समाज के आधार पर प्रभावी होते जा रही है|और जाने अनजाने में ही हम समाज में चल रहे तौर तरीकों को अपनी जरूरत मानकर उसे ही अपना सपना समझ बैठते है तथा दूसरों से प्रभावित होकर अनजाने मे  अपने व्यक्तित्व को भ्रमित करते है या उन सपनों को  अपने  बच्चों या किसी अन्य परिजनो द्वारा पूर्ण किए जाने की उम्मीद करते है| इन सब बातों के अतिरिक्त  आमतौर पर हमे दो अन्य परिस्थितियों का भी सामना करना पड़ता है –

  1. या तो हम या हमारे  बच्चे या हमारे करीबी सफल होते है
  2. या तो उन्हे असफलता हासिल होती है
  1.  हम अगर सफल लोगो की बात करें  तो कुछ लोग सफलता के बाद भी चैन सुकून की तलाश करते हुये असल में उनकी जो काबिलियत है जो उनके मन को खुशी प्रदान करती है उसी कार्य को करके खुशी व संतुष्टि का  अनुभव करते है,जो कार्य समाज के विचारों के चलते या किसी अन्य विचारों से कुंठित होकर मन के किसी कोने मे दफन हो गयी थी |

इन सभी बातों का एक ही निष्कर्ष निकलता है इंसान की पहली औरं अंतिम जरूरत उसकी संतुष्टि है|

  • और अब हम बात करेंगे ऐसे लोगो की जो दूसरों के दबाव मे आकर या जमाने से प्रभावित होकर या यूं कहे खुद को न समझ पाने की वजह से गलत निर्णय लेते है और समय बाद  समय जब इनके अनुकूल नहीं होता तो ये लोग निराश हो जाते है| तब ज़रूरत होती है हौसले की , अगर हौसला हो तो चमत्कार होने की संभावना भी है और व्यक्ति गलत राह पर जाने से बच जाता है|

यही सब कारण है की ज़्यादातर लोग नौकरी सफलता कैरियर शिक्षा सब मे उलझ के रह गए है |दोस्तो, इन सब से सुलझना हमारे लिए अतिशय महत्वपूर्ण है क्योंकि आज के बच्चे,युवा हमारे कल का भविष्य है

हमे अपनी सोच पर काम  करने की जरूरत है अपितु खुद खुद को करीब से जानना भी आवश्यक है |

समाज मे रहते हुये  अपनी जिंदगी बनाना, प्रतिष्ठा पाना बहुत अहम भूमिका निभाता है परंतु इस भागती हुई ज़िंदगी मे जरूरी है खुद को  पहचानना ,खुद से रूबरू होना|

दूसरों को  वक़्त देना जरूरी है पर खुद के लिए वक़्त न निकाल पाएँ तो वक़्त आपके हाथ से निकाल जाएगा |

शारीरिक स्वस्थ तो सभी रहना चाहते है पर उससे भी अधिक महत्वपूर्ण है “सोच का स्वस्थ रहना “

हम जैसा सोचते है वैसा ही करते है तो कुछ अच्छे के लिए अच्छी सोच अच्छे वातावरण का निर्माण करना भी हमारा कर्तव्य है |

इसके लिए आवश्यक है कि-

  1. हमेशा कोशिश  करो कि आस पास के लोग और वातावरण सकारात्मक हो|
  2. नकारात्मक सोच का आना स्वाभाविक है पर उससे कैसे  निकलना है ये भी सीखना है |
  3. सबसे महत्वपूर्ण रोज सुबह कि शुरुआत एक प्यारी सी मुस्कुराहट से करें|
  4. मेडिटेसन सीखें उससे ध्यान लगेगा जिससे मन प्रसन्न और शांत रहेगा जिससे आपको अपने बारे मे सोचने का मोका मिलेगा |
  5. बच्चों को खुशी का  अनुभव  कराएं और उन्हे सिखाएँ  जिंदगी के असली  मायने|
  6. पारिवारिक माहौल ऐसा हो आप खुलकर परिवार के सभी सदस्यों के सामने अपनी बात रख सकें|
  7. यह बात सत्या है कि हर व्यक्ति का अपना एक नजरिया होता है, सोच होती है, तो एक दूसरे को समझते हुये आगे कदम रखे |
  8. अगर शिक्षा, करियर ,व्यक्तित्व सही विषय का चुनाव संबंधी कोई समस्या है तो तुरंत अपने काउन्सलर से संपर्क करे जहा आधुनिक तकनीकों  द्वारा समस्या का समाधान किया जाता है|
  9. अगर आपके मन मे अधिक प्रश्न उत्पन्न होते है तो उसे दबाने कि कोशिश बिलकुल भी न करें उस विषय पर अपने परिवार, मित्र य करीबी लोगो से  चर्चा  करे

इस परिस्थिति मे काउंसलर अधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है जो आपको बिना किसी तर्क,वितर्क,सही गलत को ध्यान  मे रखते हुये सुनते है और  आपकी  समस्या का उचित समाधान करते है|

अगर आपके मन मे भी शिक्षा ,करियर से संबन्धित कोई प्रश्न है या  कोई अन्य मानसिक समस्या का सामना कर रहे है तो आप अपने प्रश्न हमे 8120131976  व्हाट्सप्प पर भेज सकते है| हमारी विशेषज्ञ द्वारा आपकी समस्याओं का उचित परामर्श दिया जाएगा  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here