Home Uttar Pradesh जिला जज कानपुर पूल के सामने खुले कोड का निजी अस्पताल का...

जिला जज कानपुर पूल के सामने खुले कोड का निजी अस्पताल का झगड़ा, मैनेजर बोला- जाओ मेरा अस्पताल पकड़ो, मुझे जेल भेज दो

147
0
जिला जज कानपुर पूल के सामने खुले कोड का निजी अस्पताल का झगड़ा, मैनेजर बोला- जाओ मेरा अस्पताल पकड़ो, मुझे जेल भेज दो

सीएमओ जज कोड को नरैना के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन प्रबंधन ने उनका अपमान भी किया।  - वंश भास्कर

सीएमओ जज कोड को नरैना के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन प्रबंधन ने उनका अपमान भी किया।

उत्तर प्रदेश के कानपुर में जिला प्रशासन द्वारा निर्मित Coved Private Hospital की क्या स्थिति है? इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सिर्फ कानपुर कोर्ट के जिला जज को ही इलाज कराने में दिक्कत हुई। गौरतलब है कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) खुद बीमार न्यायाधीश को स्वीकार करने आए थे।

स्थिति ऐसी थी कि जब सीएमओ ने निजी अस्पताल के प्रबंधक को फोन पर मामले की जानकारी दी तो वह आग-बबूला हो गए। निर्देशक ने सीएमओ को धमकी देते हुए यहां तक ​​कहा कि तुम जो चाहते हो, मेरे अस्पताल को सीज करो, मुझे जेल भेजो।

इसके बाद, सीएमओ ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ पिंकी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया। सवाल यह है कि अगर यह इलाज सीएमओ को मिल रहा है, तो ये निजी अस्पताल आम आदमी का इलाज कैसे करेंगे।

जज को इंफेक्शन था
कानपुर के जिला न्यायाधीश आरपी सिंह कोरोना बुधवार को प्रभावित हुए। सीएमओ डॉ। अनिल कुमार मिश्रा ने पनकी के कोविद निजी अस्पताल नरैना में प्रवेश के लिए कागजी कार्रवाई पूरी की। इसके बाद वह सिंह के साथ संघ पहुंचे। लिफ्ट से वे संघ को पहली मंजिल पर ले जा रहे थे। यह बंद है।

पंद्रह से बीस मिनट तक फंसे रहने के बाद वे किसी तरह बाहर निकले। जहां जिला जज को भर्ती होना था, वहां कोई डॉक्टर नहीं था और न ही कोई कर्मचारी मौजूद था। सीएमओ ने इसके बाद अस्पताल प्रबंधन को बुलाया। इस बीच, कई रोगियों ने अस्पताल में रोने के प्रकोप की सूचना दी।

‘जेल भेजो, भेजो’
सीएमओ को फोन करने के बाद भी प्रबंधन ने सही जवाब नहीं दिया। फिर उन्होंने अस्पताल के मालिक अमित नारायण को फोन किया और उन्हें अस्पताल की स्थिति के बारे में बताया। उस पर अमित को गुस्सा आ गया। “मेरे अस्पताल को संभालो,” उन्होंने सीएमओ से कहा। मुझे जेल भेज दो। फिर सीएमओ सीधे पिंकी पुलिस स्टेशन गए। अस्पताल प्रबंधक और डॉक्टरों और कर्मचारियों के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई।

डीसीपी वेस्ट ने क्या कहा?
डीसीपी वेस्ट संजीव त्यागी ने इस मामले के बारे में कहा – पिंकी पुलिस स्टेशन को सीएमओ कानपुर से लिखित शिकायत मिली है। नारायण अस्पताल प्रबंधक अमित नारायण, डॉक्टरों और कर्मचारियों के खिलाफ धारा 166 बी, 269, 270, 188, 506 और महामारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here