Home Sports टीम इंडिया में ओपनर के नाम पर कन्फ्यूजन से नाराज BCCI, विराट...

टीम इंडिया में ओपनर के नाम पर कन्फ्यूजन से नाराज BCCI, विराट पर भी उठ रहे सवाल! IND vs ENG BCCI angry with confusion in the name of opener in Team India says Squad was picked in presence of Virat Kohli– News18 Hindi

103
0

नई दिल्ली. इंग्लैंड दौरे पर गई भारतीय क्रिकेट टीम (India vs England) में शुभमन गिल (Shubman Gill) की चोट की वजह से अफरातफरी का माहौल बना हुआ है. शुभमन गिल के रिप्लेसमेंट को लेकर भी तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं. जबकि इंग्लैंड में टीम खाली रिजर्व ओपनर के स्थान के लिए पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) और देवदत्त पडिक्कल (Devdutt Paddikal) में से कम से कम एक चाहती है, वहीं यह जोड़ी फिलहाल श्रीलंका में 13 जुलाई से शुरू होने वाली लिमिटेड ओवर्स की सीरीज के लिए जमकर प्रैक्टिस कर रही है. जबकि पता चला है कि भारतीय टीम मैनेजर जो इस वक्त इंग्लैंड में हैं, उन्होंने आधिकारिक तौर पर चोटिल शुभमन गिल के लिए दो रिप्लेसमेंट के लिए कहा था, लेकिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की चयन समिति ने इस अनुरोध को ठुकरा दिया है.

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने इस स्थिति पर नाराजगी जताते हुए यहां तक ​​सवाल किया कि जब 24 सदस्यीय टीम को कप्तान विराट कोहली के सामने चुना जा रहा था तो टीम के बारे में ऐसी आशंका क्यों नहीं जताई गई थी. इस बीसीसीआई अधिकारी ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में कहा, ”टीम प्रबंधन को अपने दृष्टिकोण के बारे में स्पष्ट होना चाहिए. जब टीम की संरचना की बात आती है तो चयनकर्ताओं ने हमेशा टीम प्रबंधन की मांगों पर ध्यान दिया है. कप्तान विराट कोहली की मौजूदगी में टीम का चयन किया गया. राहुल को सलामी बल्लेबाज के तौर पर चुना गया है. अगर उनके पास योजनाओं में बदलाव होता तो उन्हें इसे स्पष्ट रूप से बताना चाहिए था.”

IND VS ENG: शुभमन गिल इंग्लैंड दौरे के बाद IPL 2021 से भी बाहर, जानिए कब तक नहीं खेल पाएंगे?

इंग्लैंड में भारतीय टीम प्रबंधन की ओर से खबर है कि केवल मयंक अग्रवाल और रोहित शर्मा पारी की शुरुआत करने के लिए उपलब्ध हैं, जबकि केएल राहुल को मध्यक्रम में खिलाने की योजना बनाई जा रही है. अभिमन्यु ईश्वरन, जिन्हें एक बैक-अप सलामी बल्लेबाज के रूप में टीम में लाया गया था, को जेम्स एंडरसन, स्टुअर्ट ब्रॉड, जोफ्रा आर्चर एंड कंपनी जैसी टीम के खिलाफ खेलने के लिए बहुत कच्चा खिलाड़ी माना जा रहा है.

बीसीसीआई अधिकारी ने कहा, ”ईश्वरन फरवरी-मार्च में इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज के बाद से टीम के साथ हैं. टीम प्रबंधन को यह स्पष्ट करने की आवश्यकता है कि वे ईश्वरन का उपयोग करने के बारे में आश्वस्त क्यों नहीं हैं. उसके बाद ही इस पर निर्णय लिया जा सकता है कि रिप्लेसमेंट भेजने की आवश्यकता है या नहीं.”

चयन समिति के अनुसार, भारत के पास अभी भी चुनने के लिए चार सलामी बल्लेबाज हैं- रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, केएल राहुल और अभिमन्यु ईश्वरन. जबकि संकट की स्थिति में हनुमा विहारी को सलामी बल्लेबाज के रूप में भी उतारा जा सकता है. तथ्य यह है कि इंग्लैंड के लंबे दौरे के हिस्से के रूप में 24 खिलाड़ियों को इंग्लैंड भेजा गया था. अब भारतीय टीम की ओर से और खिलाड़ियों की मांग को लेकर बीसीसीआई को नाराज बताया जा रहा है.

IND VS ENG: टीम इंडिया की छुट्टियां जारी रहेंगी, इंग्लैंड की टीम से नहीं लिया BCCI ने सबक!

अधिकारी ने कहा, ”इंग्लैंड में अभी भी चार सलामी बल्लेबाज उपलब्ध हैं और यह केवल महामारी के कारण ही संभव था. पहले भारतीय टीमों के पास यह सुविधा नहीं थी. उन्हें लंबे दौरों पर 15 खिलाड़ियों के साथ काम करना था. यह वह जगह है जहां चयनकर्ताओं और टीम प्रबंधन को एक ही पृष्ठ पर होना चाहिए और अपनी योजनाओं के बारे में स्पष्ट होना चाहिए. प्रत्येक सीरीज के लिए 24 खिलाड़ियों को चुनने से चयनकर्ताओं का काम बहुत आसान हो गया है. यदि वे अपने द्वारा चुने गए 24 खिलाड़ियों के बारे में सुनिश्चित नहीं हैं, तो इसे जल्द ही सुलझा लिया जाना चाहिए.”

सूत्र ने आगे कहा, ”इसमें कोई संदेह नहीं है कि हनुमा विहारी से संकट में जो कुछ भी करने के लिए कहा जाएगा, वह करने के लिए तैयार रहेंगे. लेकिन वह मध्यक्रम में बल्लेबाजी करने से ज्यादा खुश हैं.” टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय टीम प्रबंधन और चयन समिति के प्रमुख चेतन शर्मा जनवरी में बाद की नियुक्ति के बाद से ही बहुत सी बातों को लेकर सहमत नहीं हैं. कई लोग दावा करते हैं कि चेतन शर्मा की कुछ खिलाड़ियों के प्रति व्यक्तिगत प्राथमिकता है, जबकि दोनों पक्षों के बीच संवाद की कमी भी है. जैसा कि अब तक स्पष्ट है कि पृथ्वी शॉ और देवदत्त पडिक्कल दोनों 13 जुलाई को श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज की शुरुआत करेंगे, जबकि इंग्लैंड में भारतीय टीम को सभी पोजीशन पर अधिक स्थिरता लाने के लिए अपनी योजनाओं में बदलाव करना होगा.

Previous articleभालोपुर थाने का सिपाही बिना नंबर प्लेट के सवारी करता है अवैध वसूली, सिर पर सफेदपोश हाथ, पूर्व आईपीएस ने की कार्रवाई की मांग | भालोपुर थाने का सिपाही बिना नंबर प्लेट मोटरसाइकिल पर सवार होकर करता है अवैध वसूली, सिर पर सफेदपोश हाथ, पूर्व आईपीएस ने की कार्रवाई की मांग
Next articleदिलीप कुमार स्पेशल: नैनीताल ने सहेजी दिलीप कुमार की यादें, नैनीताल की बेटी बनी उनकी हीरोइन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here