Home Uttarakhand दलित मतदाता, भाजपा कांग्रेस में नमक के उप-चुनावों में निर्णायक भूमिका निभाने...

दलित मतदाता, भाजपा कांग्रेस में नमक के उप-चुनावों में निर्णायक भूमिका निभाने की शक्ति है। भाजपा कांग्रेस नॉर्डिक उपचुनावों में दलित मतदाताओं को प्रोत्साहित करने की पूरी कोशिश करती है

142
0

भाजपा के पास यशपाल आर्य हैं और कांग्रेस के मोर्चे पर प्रदीप टम्टा हैं।

भाजपा के पास यशपाल आर्य हैं और कांग्रेस के मोर्चे पर प्रदीप टम्टा हैं।

साल्ट विधानसभा उपचुनाव में भाजपा और कांग्रेस ने अपना सब कुछ झोंक दिया है। यह चुनाव दोनों पार्टियों के बीच की लड़ाई है।

राम नगर सल्ट विधानसभा उपचुनाव में उत्तराखंड सॉल्ट असेंबली सीट पर भाजपा और कांग्रेस के बीच जबरदस्त मुकाबला है। ऐसे में दोनों दलों ने दलित वोटों पर ध्यान केंद्रित किया है। जबकि भाजपा के एक कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने बढ़त बना ली है, कांग्रेस ने राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा को मैदान में उतारा है। सुल्तान विधानसभा, जिसमें 96,241 मतदाता हैं, के बारे में कहा जाता है कि इसमें 15 प्रतिशत दलित मतदाता हैं। इस मामले में, दलित मतदाता एक महत्वपूर्ण कारक है। ऐसा माना जाता है कि जो दलित जीतता है, उसका वोट बंध जाएगा। भाजपा की ओर से कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने पूरा मोर्चा संभाल लिया है। भाजपा ने उन्हें नामाकंन विधानसभा उपचुनाव के लिए चुनाव की बागडोर दी है और वह दलित स्मिलन को पकड़कर दलितों को खुश करने के लिए लगातार काम कर रहे हैं। यशपाल आर्य की मानें तो दलित समाज में बदलाव हो रहे हैं। उन्हें यकीन है कि इस बार दलितों का आशीर्वाद पूरी तरह से भाजपा उम्मीदवार महेश जीना को मिलने वाला है। कांग्रेस ने भी पूरा जोर दिया कम्यून में कांग्रेस का चेहरा माने जाने वाले राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा भी पीछे नहीं हैं। चुनाव की घोषणा के अलावा, वे नामाक में भी डेरा डाले हुए हैं। वह भी जगह-जगह जाकर तय जातियों के बीच यात्रा करने की कोशिश कर रहा है। ऐसे में कांग्रेस को भरोसा है कि उसका परंपरागत वोट इस चुनाव में उसके साथ रहेगा। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह का कहना है कि कांग्रेस ने हमेशा दलितों का समर्थन किया है। यह कांग्रेस ही है जिसने उन्हें आरक्षण के अलावा अन्य लाभ दिए हैं। इस लड़ाई में दलितों को कौन हटा पाएगा यह तो 2 मई को ही पता चलेगा, लेकिन यह उपचुनाव भाजपा और कांग्रेस के लिए नाक की लड़ाई है। ।




Previous articleकोरोना की दूसरी लहर के बीच, 10 बजे तक परिवार के शाही स्नान में 1.731 मिलियन श्रद्धालुओं ने स्नान किया।
Next articleहरिद्वार कुंभ: कुंभ के दूसरे शाही स्नान में कोरोना का कोई डर नहीं है, देखें तस्वीरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here