Home Sports पृथ्वी शॉ बोले- राहुल द्रविड़ ने सलाह दी थी कि नेचुरल स्टाइल...

पृथ्वी शॉ बोले- राहुल द्रविड़ ने सलाह दी थी कि नेचुरल स्टाइल में खेलूं और एन्ज्वॉय करूं

98
0

राहुल द्रविड़ की कोचिंग में पृथ्वी शॉ की कप्तानी वाली टीम ने अंडर 19 वर्ल्ड कप जीता था (Prithvi Shaw/Instagram)

राहुल द्रविड़ की कोचिंग में पृथ्वी शॉ की कप्तानी वाली टीम ने अंडर 19 वर्ल्ड कप जीता था (Prithvi Shaw/Instagram)

पृथ्वी शॉ ने कहा, ”वह मुझे भी बोलते थे कि मुझे मेरा नेचुरल गेम खेलना है, क्योंकि वह जानते थे कि अगर मैं पावरप्ले ओवरों में खेलूंगा तो इससे टीम को मदद मिलेगी. उन्होंने मुझे कभी मेरा गेम खेलने से नहीं रोका.”

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम के युवा और स्टार बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) पिछले साल आईपीएल से फॉर्म से बाहर चल रहे थे. ऑस्ट्रेलिया में उनके खराब प्रदर्शन की वजह से उन्हें पहले टेस्ट के बाद प्लेइंग इलेवन से ड्रॉप कर दिया. इसके बाद वह इंग्लैंड दौरे पर टीम में शामिल नहीं हो पाए. हालांकि, इस बीच पृथ्वी शॉ ने अपने खेल पर काफी ध्यान दिया और विजय हजारे ट्रॉफी में उन्होंने शानदार वापसी की. इसके बाद आईपीएल के 14वें सीजन में भी फॉर्म में नजर आए. टूर्नामेंट के कोविड-19 के की वजह से स्थगित होने से पहले तक उन्होंने 38.50 के औसत और 166.49 के स्ट्राइक रेट से कुल 308 रन बनाए. हालांकि पिछला सीजन उनके लिए खास नहीं रहा था.दाएं हाथ का यह बल्लेबाज केवल 228 रन बना पाया था, तब उनका औसत मात्र 17.54 का रहा था. फॉर्म में वापस लौट चुके पृथ्वी शॉ को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए टीम में नहीं चुना गया है. हालांकि, उम्मीद है कि वह जुलाई में श्रीलंका दौरे पर जाने वाली दूसरी टीम के सदस्य होंगे. पृथ्वी ने क्रिकबज पर हर्षा भोगले के साथ अपने अंडर-19 वर्ल्ड कप अनुभव और राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की सलाह को लेकर बातें शेयर की हैं. विराट कोहली और अनुष्‍का शर्मा ने बचाई बच्‍चे की जान, दुनिया की सबसे महंगी दवाई की थी जरूरत पृथ्वी शॉ ने कहा, ”वर्ल्ड कप अंडर 19 में खेलना मेरे लिए काफी बड़ी बात थी, क्योंकि 2008 में जब विराट भाई का अंडर 19 वर्ल्ड कप चल रहा था और विराट भाई ने वह वर्ल्ड कप जीता था, तब मैं गेम देख रहा था. मैं अंडर 19 वर्ल्ड कप के बारे में कुछ नहीं जानता था. तब मैं सिर्फ 9 साल का था. मैं और मेरे पिता टीवी पर उसे देख रहे थे. तब मैंने अपने पिता से पूछा कि यह कौन सा क्रिकेट है. तब पिता ने कहा कि अंडर-19 इंडिया कुछ है. हालांकि, इसके बारे में मुझे याद नहीं था. मेरे पिता ने ही इस बारे में मुझे बताया कि हम साथ में ही देख रहे थे. तब मुझे याद आया है कि मैंने विराट भाई को उस साल खेलते हुए देखा था. जब विराट भाई ने वर्ल्ड कप उठाया था, उस वक्त की बात है. उसके बाद फ्लो में सब होता गया. रन बनते गए. इसके बाद मेरे पास टीम इंडिया की कप्तानी करने का मौका आया. जो मेरा सपना था. भारत की कप्तानी करना मेरे लिए बहुत बड़ी बात थी और गर्व का क्षण था, जब हमने वर्ल्ड कप जीता था. हम काफी अच्छी टीम थे.”‘राहुल सर हमेशा नेचुरल गेम खेलने को कहते थे’ राहुल द्रविड़ का स्वभाव, बैकग्राउंड और खेलने का स्टाइल काफी अलग है. उनकी जिंदगी को लेकर सोच भी काफी अलग है? इस पर पृथ्वी शॉ ने कहा, ”वर्ल्ड कप से पहले भी हमने 2 साल टूर किया था. उनके साथ अनुभव काफी अच्छा था. अंडर -19 में, इंग्लैंड में इंडिया ए की तरफ से हम उनके साथ खेले हैं. उन्हें पता है कि वो अलग हैं, लेकिन उन्होंने कभी भी हम पर कुछ थोपने या बदलने की कोशिश नहीं की. उन्होंने किसी की बल्लेबाजी में कोई बदलाव नहीं किया. वह मुझे भी बोलते थे कि मुझे मेरा नेचुरल गेम खेलना है, क्योंकि वह जानते थे कि अगर मैं पावरप्ले ओवरों में खेलूंगा तो इससे टीम को मदद मिलेगी. उन्होंने मुझे कभी मेरा गेम खेलने से नहीं रोका.” IPL 2021: भारत में कोविड-19 अनुभव के बारे में बताते हुए रोने लगा कीवी क्रिकेटर
‘राहुल सर मानसिक चीजों पर ज्यादा बात करते थे’ पृथ्वी शॉ ने बताया, ”वह सिर्फ मानसिक चीजों पर काफी ज्यादा बात करते थे और गेम की रणनीति पर बात करते थे. अगर आप मैच में जा रहे हो तो कैसी अप्रोच रखो. मीटिंग्स में रणनीति को लेकर थोड़ी बात होती थी. वह हमें हमेशा कहते थे कि अपने गेम को एन्ज्वॉय करो. यहां तक प्रैक्टिस सेशन में भी कहते थे कि जाओ और एन्ज्वॉय करो. अगर कुछ बार बार गलती होती थी तो वह आपके पास आते हैं और आपको बताते हैं. इसके अलावा वह हमेशा मानसिक चीजों पर ही बात करते थे.” ‘जब राहुल सर रहते हैं तो आपको अनुशासन में ही रहना होता है’ राहुल द्रविड़ के अनुशासन पर बात करते हुए इस युवा खिलाड़ी ने कहा, ”जब राहुल सर रहते हैं तो आपको अनुशासन में ही रहना होता है. तो थोड़ा सा डर लगता था सर से. ऑफ द फील्ड वह हमारे साथ काफी फ्रेंडली होते थेय वह हमारे साथ डिनर के लिए आते थे. ऐसे में एक लीजेंड के साथ बैठकर डिनर करना किसी सपने के सच होने जैसा था.”




Previous article#AristivikaChowdhury बना ट्रेंड तो एक्ट्रेस ने समझाया- सॉरी, मुझे इस शब्द का मतलब नहीं पता था
Next articleस्कूप: शाहरुख खान की पठान में टाइगर के रूप में सलमान खान के लिए एक मेगा हेलीकॉप्टर आधारित प्रवेश दृश्य: बॉलीवुड समाचार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here