Home Bihar बिहार की राजनीति में ‘खलनायक’ कौन है? शिवानंद तिवारी ने सामाजिक...

बिहार की राजनीति में ‘खलनायक’ कौन है? शिवानंद तिवारी ने सामाजिक मोदी की तुलना ‘तीथारी’ से की

71
0

शिवानंद तिवारी ने सोशल मोदी पर दिया बड़ा बयान

शिवानंद तिवारी ने सोशल मोदी पर दिया बड़ा बयान

सुशील मोदी ने लालू परिवार और समर्थकों पर एक के बाद एक कई ट्वीट किए। जिसके बाद राजद पागल हो गया है। सबसे पहले बाबा यानि शिवानंद तिवारी ने सुशील मोदी पर तंज कसा और कहा कि सुशील मोदी बिहार के राजनीतिक ‘तातार’ हैं।

पटना। लालू प्रसाद यादव के प्रशंसकों में उत्सवी माहौल है। जमानत की सूचना मिलते ही राजद कार्यकर्ता पेंट और पटाखे फेंक रहे हैं। इस माहौल के बीच, बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और लालू के कट्टर विरोधी सुशील कुमार मोदी के एक बयान ने राजद की सारी खुशी धूमिल कर दी। लालू की जमानत पर टिप्पणी करते हुए मोदी ने सोशल मीडिया पर लिखा कि लालू के समर्थक उतने ही उत्साहित हैं, जितना कि अदालत ने लालू को एक हजार करोड़ रुपये के घोटाले से बरी कर दिया था।

सुशील मोदी ने लालू परिवार और समर्थकों पर एक के बाद एक कई ट्वीट किए। जिसके बाद राजद पागल हो गया है। सबसे पहले बाबा यानि शिवानंद तिवारी ने सुशील मोदी पर तंज कसा और कहा कि सुशील मोदी बिहार के राजनीतिक ‘तातार’ हैं। जैसे कि तातार अपने पैरों को आकाश की ओर करके सोता है, उसे यह भ्रम होता है कि यदि आकाश गिरता है, तो मैं उसे अपने पैरों से रोकूंगा और पूरी दुनिया को बचाऊंगा। इसी तरह, अब सुशील मोदी भी लालू यादव को रोकने के लिए ‘टिटारी’ का सपना देख रहे हैं। पुराने दिनों की बात करते हुए, शिवानंद तिवारी ने कहा कि सुशील मोदी अपने छात्र जीवन की शुरुआत से ही लालू यादव को देखते रहे हैं, लेकिन राजनीति में लालू यादव को रोकने के लिए उनके पास कोई स्थिति नहीं है।

सुशील मोदी राजद बिहार की राजनीति का बदसूरत खलनायक है
शिवानंद तिवारी के अलावा पार्टी के प्रवक्ता से लेकर कार्यकर्ताओं तक, सबकी निगाहें सुशील मोदी पर हैं। राजद के प्रवक्ता चटर्जी गगन ने यहां तक ​​कहा कि सुशील मोदी बिहार की राजनीति के ‘बदसूरत खलनायक’ की तरह हैं, जिन्हें किसी की खुशी पसंद नहीं है। यही नहीं, राजद का यह भी कहना है कि सुशील कुमार मोदी को लालू फोबिया है। खुद को सुर्खियों और खबरों में बनाए रखने के लिए, सुशील मोदी केवल लालू यादव और उनके परिवार पर संक्षिप्त टिप्पणी करते हैं।




Previous article20 कोरोना पॉजिटिव मरीज जो तहरीर गढ़वाल के कोड अस्पताल से भाग गए, ने हंगामा किया
Next articleराजस्थान में, 19 अप्रैल से 3 मई तक, कोरोना जन अनुसन पखवाड़ा मनाया जा रहा है, जिसके दौरान सब कुछ बंद रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here