Home Uttar Pradesh बी.एड प्रवेश परीक्षा – अभ्यर्थियों को कोरोना टीकाकरण प्रमाणपत्र, परीक्षा के संबंध...

बी.एड प्रवेश परीक्षा – अभ्यर्थियों को कोरोना टीकाकरण प्रमाणपत्र, परीक्षा के संबंध में जारी दिशा-निर्देश जमा नहीं करने होंगे। अभ्यर्थियों को नहीं देना होगा कोरोना टीकाकरण प्रमाणपत्र, परीक्षा को लेकर जारी किए निर्देश

167
0

लनؤ2 घंटे पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2021 के अभ्यर्थियों के लिए कोरोना वैक्सीन प्रमाण पत्र की आवश्यकता को लागू नहीं करने के निर्देश जारी किए गए।  - दिनक भास्कर

बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2021 के अभ्यर्थियों के लिए कोरोना वैक्सीन प्रमाण पत्र की आवश्यकता को लागू न करने के निर्देश

लखनऊ विश्वविद्यालय ने बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा के लिए उम्मीदवारों के लिए वैक्सीन प्रमाण पत्र की आवश्यकता को लागू नहीं करने का निर्देश जारी किया है।मंगलवार को विश्वविद्यालय ने इस संबंध में स्पष्ट दिशानिर्देश जारी किया। राज्य के 1,476 केंद्रों पर 30 जुलाई को बीएड प्रवेश परीक्षा प्रस्तावित की जा रही है। सरकार पहले ही निर्देश जारी कर चुकी है कि प्रवेश परीक्षा के दिन किसी भी विश्वविद्यालय में कोई अन्य परीक्षा आयोजित नहीं की जाएगी।

बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा की राज्य समन्वयक प्रो. अमिता वाजपेयी के अनुसार एहतियात की दृष्टि से उम्मीदवारों को पोलियो का टीका लगवाने का निर्देश दिया गया है, लेकिन संयुक्त प्रवेश परीक्षा बिस्तर 2021 के लिए टीकाकरण का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य नहीं है। 23.

साथ ही 16 जुलाई से प्रवेश पत्र डाउनलोड किए जा सकेंगे। राज्य समन्वयक ने कहा कि सभी अभ्यर्थी इसे किसी भी हाल में 28 जुलाई तक डाउनलोड कर लें, ताकि परीक्षा के दिन उन्हें किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े.

एक झलक –

– संयुक्त प्रवेश परीक्षा बैड 2021-23 की तिथि 30 जुलाई 2021 है।

यदि किसी विश्वविद्यालय में प्रवेश परीक्षा के दिन कोई अन्य परीक्षा प्रस्तावित है तो उसे स्थगित कर दिया जाएगा।

परीक्षा केंद्र पर कोरोना टीकाकरण प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने की बाध्यता नहीं होगी।

– परीक्षा का प्रारूप 3 घंटे के बराबर है और इस बार भी नेगेटिव मार्किंग होगी.

प्रवेश पत्र 16 जुलाई से डाउनलोड किए जा सकेंगे, किसी भी स्थिति में प्रवेश पत्र 28 जुलाई 2021 तक डाउनलोड करना होगा।

एलयू के पूर्व छात्रों की बड़ी उपलब्धि डॉ. अखिलेश गुप्ता बने डीएसटी . के वरिष्ठ सलाहकार

भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग में वैज्ञानिक डी के पद पर तैनात डॉ. अखिलेश गुप्ता को प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली कैबिनेट नियुक्ति समिति द्वारा डीएसटी का वरिष्ठ सलाहकार (वैज्ञानिक एच) नियुक्त किया गया है। गुप्ता ने 1984 में लखनऊ विश्वविद्यालय से एमएससी किया। प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण। (वैज्ञानिक एच) डीएसटी में पहली बार पद सृजित किया गया है। इसका उद्देश्य नए बदलावों को आकार देने के लिए PMO के सभी प्रमुख मंत्रालयों, कैबिनेट सचिव कार्यालय, NITI Aayog के साथ समन्वय में विज्ञान नीतियों पर चर्चा करना है।

और भी खबरें हैं…
Previous articleरणबीर-आलिया की शादी की भविष्यवाणी करने के बाद केआरके हुए ट्रोल, कहा- 15 साल के अंदर होगा तलाक।
Next articleउत्तराखंड में कांवड़ यात्रा रद्द करने के पीछे क्या है वजह… जानिए पूरी कहानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here