Home Uttar Pradesh भाजपा पार्षद ने आधी रात को अपने रिश्तेदार को एक ऑडियो संदेश...

भाजपा पार्षद ने आधी रात को अपने रिश्तेदार को एक ऑडियो संदेश भेजा और कहा – मैं किसी को अपना चेहरा नहीं दिखा सकता, गोली कार में मिली। | भाजपा पार्षद ने आधी रात को अपने रिश्तेदार को ऑडियो भेजा और कहा – मैं किसी को अपना चेहरा नहीं दिखा सकता। सुबह एक बंद कार में गोलियों से छलनी शव मिले

192
0

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार के लिए डायनाक भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

मेरठ7 घंटे पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
यूपी के मेरठ में बीजेपी पार्षद।  दानिक ​​भास्कर

यूपी के मेरठ में बीजेपी पार्षद

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में एक भाजपा पार्षद का शव उनकी कार के अंदर पाया गया। कार अंदर से बंद थी, और कार से एक पिस्तौल बरामद किया गया था। वास्तव में, पुलिस इसे आत्महत्या अभिशाप मानती है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

मृतक की पहचान 38 वर्षीय मनीष उर्फ ​​मंटो के रूप में हुई। वार्ड 40 के भाजपा पार्षद मनीष गुरुवार को कंकरखेड़ा क्षेत्र में अपनी कार में मृत पाए गए। सुबह जब लोग कार के अंदर से शव को देखने गए तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर कंकरखेड़ा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

फोरेंसिक टीम घटनास्थल पर पहुंची और सबूत एकत्र किए। कार के अंदर शराब की बोतलें और गिलास भी मिले। मनीष को बाएं मंदिर में गोली मारी गई थी। उसके पास पिस्टल भी थी। पुलिस ने उसे भी हिरासत में ले लिया है और उसे फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है।

उन्होंने पुलिस के अनुसार बुधवार देर रात एक रिश्तेदार से भी बात की। इसमें उन्होंने जीवन में खुद को खोने की बात कही। पुलिस के मुताबिक, जब उसकी जेब में मिले मोबाइल फोन की जांच की गई तो पता चला कि उसने अपने रिश्तेदार को रात करीब साढ़े बारह बजे एक ऑडियो संदेश भेजा था। इसमें वह कह रहा है कि मैं किसी को अपना चेहरा नहीं दिखा सकता। पुलिस मामले को आत्महत्या मानकर जांच कर रही है, जबकि पीड़ितों के परिजन हत्या की आशंका जता रहे हैं।

इंस्पेक्टर के थप्पड़ मारने की बात चर्चा में आई
पार्षद मनीष उर्फ ​​मंटो तीन साल पहले उस समय प्रकाश में आया था, जब एक डॉक्टर एक युवती के साथ उसके होटल में आया था। इस दौरान इंस्पेक्टर और पार्षद के बीच झगड़ा हुआ। मनीष को तब इंस्पेक्टर ने थप्पड़ मारा था। इस मामले में मनीष को जेल भी जाना पड़ा था।

मनीष को भाजपा कैंट विधायक सती प्रकाश अग्रवाल का करीबी माना जाता था। मनीष की मौत की खबर मिलते ही भाजपा के विधायक और कार्यकर्ता घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े। मानिकोटो परिवार सहित भक्त कंकरखेड़ा के फेज वन में रहते थे।

एसपी सिटी विनीत भटनागर का कहना है कि यह आत्महत्या का मामला लग रहा है। फोरेंसिक टीम बारीकी से जांच कर रही है। सभी बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए परीक्षण किया जा रहा है। दुर्घटना के कारण की जांच की जा रही है।

और भी खबर है …

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here