Home Madhya Pradesh महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश की सरकारों ने मौखिक रूप से ऑक्सीजन की...

महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश की सरकारों ने मौखिक रूप से ऑक्सीजन की खरीद पर हमला किया है

60
0

करुणा संकट: ऑक्सीजन खरीद पर महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश सरकार का मौखिक हमला

करुणा संकट: ऑक्सीजन खरीद पर महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश सरकार का मौखिक हमला

सीएम शिवराज ने कहा कि करुणा संकट में, महाराष्ट्र सरकार मध्य प्रदेश को ऑक्सीजन की आपूर्ति में बाधा डाल रही थी। महाराष्ट्र में विनिर्माण कंपनियों को ऑक्सीजन सांद्रता के आदेश दिए गए थे। उन्हें महाराष्ट्र सरकार के दबाव में नहीं भेजा जा रहा है।

भोपाल। कोरोना संकट के दौरान, राज्यों के बीच आरोपों का स्तर अब तेज हो गया है। मप्र सरकार ने महाराष्ट्र पर एक बड़ा आरोप लगाया है। कोरोना संक्रमण पर सीएम शिवराज की समीक्षा बैठक में कहा गया है कि मध्य प्रदेश ने महाराष्ट्र में विनिर्माण कंपनियों के अपराधियों को ऑक्सीजन दिया था। उसे महाराष्ट्र सरकार के दबाव में नहीं भेजा जा रहा है। सरकार का आरोप है कि महाराष्ट्र सरकार ठेकेदारों को भेजने पर प्रतिबंध लगाने के लिए राज्य पर दबाव बना रही है।

राज्य में ऑक्सीजन की सघनता पहले ही 2000 तक पहुंच गई है, अब 650 सांद्रता आएगी। कलेक्टर ने जिला स्तर पर 1300 सांद्रक खरीदे हैं। लेकिन सरकार महाराष्ट्र से ही ऑक्सीजन सांद्रता खरीद रही है। ऐसे में महाराष्ट्र से ऑक्सीजन ले जाना मुश्किल लग रहा है। इसका एक कारण महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण का तेजी से प्रसार है।

हरिद्वार कुंभ से आने वालों को अलग-थलग करना होगा, गृह विभाग ने जारी किए निर्देश

उधर, हरिद्वार कुंभ से लौटने वालों में कोरोना संक्रमण की खबर के बाद सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। गृह विभाग ने सभी जिलों को उन लोगों की पहचान करने के आदेश जारी किए हैं जो कानब हरिद्वार से लौटे हैं। ऐसे लोगों की पहचान कर उन्हें घर पर रखा जाना चाहिए। गृह विभाग द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि जो लोग हरिद्वार कुंभ से लौटे हैं, वे इसकी सूचना जिला प्रशासन को दें और अकेले घर जाएं। स्थानीय लोग जिला प्रशासन को यह भी सूचित कर सकते हैं कि उनके पास रहने वाले लोग हरिद्वार कुंभ से लौट आए हैं। उसके बाद, ऐसे लोगों की पहचान की जाएगी और जिला प्रशासन के स्तर पर संगरोध किया जाएगा।




Previous articleकोरोना अपडेट : एक साथ पाए गए 16,000 से अधिक संक्रमण , केवल एक दिन में हुईं 138 मौतें
Next articleबिलासपुर में डबल आत्महत्या, चाचा के साथ भतीजी की हत्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here