Home Rajasthan राजस्थान सरकार करेगी कोरोना से मौतों का ऑडिट, बनाए तीन दल

राजस्थान सरकार करेगी कोरोना से मौतों का ऑडिट, बनाए तीन दल

159
0

राजस्थान सरकार कोरोना से हुई मौतों का ऑडिट करने जा रही है.

राजस्थान सरकार कोरोना से हुई मौतों का ऑडिट करने जा रही है.

राजस्थान सरकार कोरोना से हुई मौतों का दोबारा ऑडिट करने जा रही है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर सैंपल साइज में कोरोना की मौत का ऑडिट करने के लिए तीन वरिष्ठ डॉक्टरों के नेतृत्व में तीन टीमें गठित की गईं.

जयपुर राजस्थान में वरिष्ठ अधिकारियों ने कोविड-19 से मरने वालों की संख्या की पुष्टि की है। इसके बाद अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर सभी जिलों में सैंपल साइज के अनुसार निर्धारित समय सीमा के भीतर कोरोना से मरने वालों की संख्या की जांच की जाएगी. इसके लिए वरिष्ठ डॉक्टरों की अध्यक्षता में 3 टीमें बनाई गईं। चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि वर्ष 2019 में कुल 396,799 मौतें दर्ज की गईं। साल 2020 में यह संख्या बढ़कर 420,403 हो गई है। यह 2019 की तुलना में लगभग 66% (5.94%) की वृद्धि है। इसी तरह साल 2020 में जनवरी 2020 से 25 मई 2020 तक 166,392 मौतें दर्ज की गईं। इसी अवधि में वर्ष 2021 में 1 लाख 75 हजार 244 मौतें दर्ज की गईं। पिछले वर्ष इसी अवधि के दौरान विकास दर 5.31 प्रतिशत थी। “यह वृद्धि पिछले साल की विकास दर के समान है,” उन्होंने कहा। मंत्री ने कहा कि मार्च 2020 से मार्च 2021 तक, कोविड 19 के कारण कुल 2,818 मौतें हुईं। इस दौरान मरने वालों की कुल संख्या 439,996 थी। इस प्रकार कोड के कारण मृत्यु दर 0.64 थी। अप्रैल 2021 से मई 2021 तक, CoV-19 के कारण कुल 5,093 मौतें हुईं। मरने वालों की संख्या कुल 83,188 का 6.12% है। गठित दल अलग-अलग जिलों में जाकर डेथ ऑडिट करेंगे। मौतों का आकलन करने और आंकड़ों की पुष्टि के लिए गठित टीमें अलग-अलग जिलों में जाकर मौतों का ऑडिट करेंगी। इसके लिए जिले में क्विड से संबंधित कुल मौतों और मौतों के तुलनात्मक आंकड़ों का अनुमान लगाया जाएगा। गठित टीमें संबंधित जिलों में कोरोना उपचार और शमन पर अपने सुझाव भी प्रस्तुत करेंगी। इन दलों को संबंधित जिलों का निरीक्षण कर अगले 15 दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है.स्वास्थ्य विभाग ने जारी किए आदेश प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अखिल अरोड़ा ने भी आज इन दलों के गठन के आदेश जारी किए। पहली टीम में डॉ. रवि शर्मा, अतिरिक्त निदेशक (ग्रामीण स्वास्थ्य), डॉ. बी.वी. एल. संयुक्त निदेशक (ग्रामीण स्वास्थ्य), मीना ने द्वितीय पक्ष में डॉ. परवीन असवाल, तृतीय पक्ष में डॉ. नरेंद्र आर्य व डॉ. सुशील परमार व डॉ. मनोज ठाकरे को नियुक्त किया है.




Previous article‘बॉम्बे बेगम’ के निर्माताओं के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश
Next articleपटना का प्रसिद्ध महावीर मंदिर ट्रस्ट लेगा कर्ज, तो आप भी रह जाएंगे दंग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here