Home Uttar Pradesh वाराणसी में, जिला प्रशासन ने कोरोना से मृतकों के परिवारों के परिवहन...

वाराणसी में, जिला प्रशासन ने कोरोना से मृतकों के परिवारों के परिवहन की सुविधा के लिए नंबर किए जारी, श्मशान में स्थापित होगा हेल्प डेस्क

182
0
वाराणसी में, जिला प्रशासन ने कोरोना से मृतकों के परिवारों के परिवहन की सुविधा के लिए  नंबर किए जारी, श्मशान में  स्थापित होगा हेल्प डेस्क
झारखंड  बिहार से ऑक्सीजन प्राप्त करने की तैयारी है।  - वंश भास्कर
  • नगर निगम स्थित कोविद कमांड सेंटर का टोल फ्री नंबर 18001805567 भी जारी किया गया है।

जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ने की जाँच के लिए जिला प्रशासन, नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग ने कई कदम उठाए हैं। सबसे पहले कोड 19 (कोरोना महामारी) के तहत मृतकों को अंतिम संस्कार घर तक पहुंचाने के लिए नगर निगम वाराणसी द्वारा वाहनों की व्यवस्था की गई है। कोरोना महामारी से बचे लोग टोल-फ्री नंबर 18001805567 या 0542-2221941 पर नगर निगम के कंट्रोल कमांड सेंटर पर वाहन प्राप्त करने के लिए कॉल कर सकते हैं। कोवेडा -19 (कोरोना महामारी) से मृतकों के शवों को दफनाने की जगह तक पहुंचाने के लिए ही यह सुविधा दी जा रही है।

झारखंड भी बिहार से ऑक्सीजन खरीदने की तैयारी कर रहा है। एडीआरएमआर चतुर्वेदी ने भी बलात्कार की निगरानी की है। वाराणसी सहित आसपास के जिलों में मरीजों को ऑक्सीजन की आपूर्ति करने की तैयारी चल रही है। अधिकारी और कर्मचारी आज टैंकरों की लोडिंग और अनलोडिंग का भी निरीक्षण करेंगे।

जिला प्रशासन द्वारा निर्मित मिलिया गंगा ब्रिज के पास श्मशान घाट

कोरोना संक्रमणों में वृद्धि देखने के लिए नगर निगम द्वारा मालेहा में कब्रिस्तान स्थल बनाए गए थे। वहीं, मणिकर्णिका और हरिश्चंद्र कब्रिस्तान में तीन से आठ घंटे का हेल्पडेस्क स्थापित किया जा रहा है। दफन चार कर्मचारियों द्वारा किया जाएगा। वही 10 वाहनों को मृतकों के लिए कोरोना से शहर तक ले जाया जाएगा, ताकि परिवार वाहन के लिए भटक न सकें। जिसके लिए नंबर 18001805567, 0542-2221941 जारी किया गया है।

एक नोडल अधिकारी के रूप में उपचार में सहायता

डीएम कोशल राज शर्मा ने 43 अस्पतालों की देखरेख के लिए 43 नोडल अधिकारियों को नियुक्त किया है, जो अन्य रोगियों की चिंताओं को देखते हुए। बुधवार शाम तक, जिले की रिपोर्ट ने 2,264 लोगों को प्रभावित किया था। वहीं, 10 लोगों की मौत हो गई है। सकारात्मक मामलों की कुल संख्या 48,774 है, जिनमें से 32,201 स्वस्थ हैं और 461 की मृत्यु हो गई है।

Previous articleभोपाल समाचार: क्या करुणा की मौत से शिवराज सरकार छिप रही है? आधिकारिक रिकॉर्ड में 5 शवों को दफनाने का अंतिम अपमान …
Next articleपंजाब में CM के सलाहकार के खिलाफ किसानों ने किया प्रदर्शन – गोला बारूद की कमी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here