Home Chhattisgarh सुकमा भाजी थाना क्षेत्र में दो पुलिस गार्डों की हत्या

सुकमा भाजी थाना क्षेत्र में दो पुलिस गार्डों की हत्या

119
0

विज्ञापनों द्वारा घोषित? विज्ञापनों के बिना समाचार के लिए डायनाक भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

साभार2 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
अब तक की जांच से पता चला है कि सैनिकों को पीटा नहीं गया था, बल्कि सीधे-सीधे हथियार से गर्दन में वार किया गया था।  - वंश भास्कर

अब तक की जांच से पता चला है कि सैनिकों को पीटा नहीं गया था, बल्कि सीधे-सीधे हथियार से गर्दन में वार किया गया था।

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के एक पुलिस स्टेशन से महज आधा किलोमीटर दूर दो पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई है। मारे गए पुलिसकर्मियों को पुलिस स्टेशन भेज दिया गया। थाने के पास पुलिस कैंप भी है। गुरुवार को दोनों सिपाही मोटरसाइकिल पर बाजार के लिए जा रहे थे। तभी उनका रास्ता रोककर किसी ने धारदार हथियार से उसके गले में वार कर दिया और फरार हो गए।

ग्रामीण घटना के बारे में कुछ नहीं कह रहे हैं। घटना की जांच की जा रही है, एसपी केएल धरो ने कहा। जो सैनिक मारे गए थे, उनमें पनि हरम और धनीराम कश्यप थे। छत्तीसगढ़ में सुरक्षा बलों पर हमलों के 23 दिनों में यह तीसरी घटना है।

नक्सलियों की छोटी कार्रवाई टीम पर शक
गाँव के सूत्रों के मुताबिक, हत्याओं के पीछे एक छोटी नक्सल कार्रवाई टीम का हाथ हो सकता है। ऐसी टीमों को शिविर से बाहर आने वाले पुलिसकर्मियों पर नजर रखनी चाहिए। गांवों में रहने वाले ऐसे नक्सली मौके और हमले को पहचानने में असमर्थ हैं। जहां कहीं भी ऐसा होता है, पुलिस अधिकारी अक्सर शराब पीकर या अस्पताल और बाजार जाकर काम करते हैं।

पुलिस ने नक्सलियों के शामिल होने से इनकार किया
सुकमा पुलिस ने कहा कि सड़क पर पड़े पुलिसकर्मियों के बारे में सूचना मिलने के बाद एक टीम घटनास्थल पर पहुंची। वहां उन्होंने देखा कि सिकमा की पूनम हराम और दंतेवाड़ा के धनीराम कश्यप वहीं पड़े थे। उसकी गर्दन से खून बह रहा था। पुलिस के पहुंचने पर दोनों मारे गए। पुलिस का कहना है कि अब तक किसी भी नक्सली के शामिल होने की सूचना नहीं है।

इससे पहले 3 अप्रैल को बीजापुर में नक्सलियों द्वारा सुरक्षा बलों पर हमला किया गया था। 23 जवान शहीद हुए। इस बीच, सीआरपीएफ कमांडो राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने बंधक बना लिया और बाद में रिहा कर दिया गया।

और भी खबर है …

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here