Home Himachal Pradesh हिमाचल में फूल उत्पादक बाजार में कोई खरीदार नहीं एचपीवीके

हिमाचल में फूल उत्पादक बाजार में कोई खरीदार नहीं एचपीवीके

89
0

COVID-19: हमीरपुर में फूलों का कारोबार हुआ ठप.

COVID-19: हमीरपुर में फूलों का कारोबार हुआ ठप.

Flower Grower in Himachal: 13 पॉली हाउस में 28 लाख रुपये के फूल तैयार हैं. किसान पवन कुमार ने सीएम जयराम ठाकुर से मदद की गुहार लगाते हुए कहा कि प्रदेश के किसानों और बागबानों की इस मुश्किल की घड़ी में उन्हें आर्थिक मदद मुहैया करवाई जाए.

हमीरपुर. कोविड माहमारी (Corona Virus) के चलते हिमाचल प्रदेश में फूल उत्पादन पूरी तरह से तबाह हो गया है. जहां हिमाचल (Himachal Pradesh) से हर साल करोड़ों रुपये का फूल व्यवसाय होता था, वह पिछले डेढ़ साल में शून्य हो गया है. इससे फूल उत्पादकों की चिंता बढ गई है. प्रदेश सरकार द्वारा भी फूल उत्पादकों के बारे में कोई सुध न लिए जाने से अब इन फूल उत्पादकों (Flower Growers) का भविष्य अंधकारमय बना हुआ है. चाहे बात शिमला की हो या फिर सोलन, मंडी, ऊना या बिलासपुर. सभी जगह फूल उत्पादकों के ऐसे हालात बने हुए हैं. हमीरपुर जिला के बडसर उपमंडल में फूलों का कारोबार कर रहे पवन कुमार कोविड माहमारी के दौरान अब व्यवसाय छोड़ने के लिए मजबूर हैं. पेट पालने के लिए सब्जी की दुकान पर निर्भर हो गए हैं. बैंक से लिया था लोन बडसर उपमंडल के तहत फूलों के उत्पादन में नाम कमा चुके पवन कुमार ने साल 2013 में बैंक से तीन करोड रुपये का लोन लेकर कारोबार शुरू किया था और कुछ ही सालों में पूरे प्रदेश में पवन कुमार ने अपना नाम कमा लिया था, लेकिन कोविड माहमारी के चलते अब पवन कुमार की कमर ही टूट गई है. फूलों का व्यवसाय पूरी तरह से तहस नहस हो गया है. यहां तक कि कोविड के दौरान तैयार फूलों की फसल को नष्ट करने के लिए तैयार हैं, क्योंकि पाली हाउस में फूल सूख चुके हैं. पवन कुमार ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गुहार लगाई है कि फूल कारोबार पूरी तरह से नष्ट हो चुका है और हमें जल्द मदद की जाए. केस कम हुए तो दोबारा निवेशपवन कुमार ने बताया कि फरवरी माह में हमीरपुर जिला में बहुत कम कोरोना के केस रह गए थे. इस कारण उन्होंने दोबारा से इस खेती में इन्वेस्टमेंट किया. लेकिन दोबारा से लॉकडाउन लग गया है. फूलों की फसल पूरी तरह से तैयार है लेकिन खरीददार नहीं है. इस कारण उन्हें इस बार भी आर्थिक नुकसान झेलना पड़ रहा है. 13 पॉली हाउस में 28 लाख रुपये के फूल तैयार हैं. किसान पवन कुमार ने सीएम जयराम ठाकुर से मदद की गुहार लगाते हुए कहा कि प्रदेश के किसानों और बागबानों की इस मुश्किल की घड़ी में उन्हें आर्थिक मदद मुहैया करवाई जाए. क्या कहते हैं कारोबारी पवन के भाई सुरेश कुमार का कहना है कि पवन कुमार ने बैंक से कर्जा लेकर फूलों का कारोबार शुरू किया, जिससे उन्हें अच्छा लाभ भी हो रहा था. लेकिन कोरोना महामारी के चलते उनका यह व्यवसाय पूरी तरह से ठप्प हो चुका है. ऐसे में सरकार को किसानों और बागबानों की कुछ न कुछ मदद महैया करवानी चाहिए, ताकि ये किसान और बागबान दोबारा से अपना काम धंधा शुरू कर सकें.




Previous articleवीडियो वायरल करने की ब्लैकमेलिंग की धमकी, भतीजी से 15 दिन तक दुष्कर्म ब्लैकमेल ने वीडियो वायरल करने की दी धमकी
Next articleइंटरनेशनल क्रिकेट में फैंस की वापसी, 18 हजार लोग स्टेडियम में देख सकेंगे टेस्ट मैच

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here