Home Himachal Pradesh हिमाचल में भारी बारिश और बर्फबारी

हिमाचल में भारी बारिश और बर्फबारी

159
0

मनाली में हिमपात के बाद अटल टनल को बंद किया गया है.

मनाली में हिमपात के बाद अटल टनल को बंद किया गया है.

Rain and Snowfall in Himachal; हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति में भारी हिमपात के चलते बारलाचा पास पर बड़ी संख्या में वाहन और लोग फंसे हुए थे. इन्हें बीआरओ की टीम ने रेस्क्यू किया है. टीम ने तीन दिन में कुल 244 बारलाचा से निकाले हैं. यहां 5 फीट से अधिक बर्फबारी हुई है.

शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh)में बीते तीन दिन से लगातार भारी बारिश (Rain) हो रही है. आलम यह है कि शिमला में भी पिछले तीन दिन से जमकर बारिश हो रही है. यहां 22 अप्रैल को 24 घंटों के दौरान बारिश ने 42 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. शिमला में साल 1979 में 15 अप्रैल को 111 मिलीलीटर बारिश रिकॉर्ड की गई थी. वहीं बीते 24 घंटों के दौरान शिमला (Shimla) में 83 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है. इसके अलावा कुल्लू में भी जम कर बादल बरसे. कुल्लू के कोठी में 67 मिलीलीटर बारिश रिकार्ड की गई. बर्फबारी-बारिश (Snowfall and Rain) के चलते सूबे में 178 सड़कें और दो हाईवे बंद हैं.

शिमला (Shimla) में देर रात जमकर बारिश और ओलावृष्टि होती रही और अब भी बारिश का दौर जारी है. गुरुवार रात और शुक्रवार सुबह भी सूबे में मौसम खराब बना हुआ है. तेज रफ्तार से आंधी चल रही है.
कुल्लू के ऊपरी क्षेत्रों में बर्फबारी भी रिकॉर्ड की गई है. प्रदेश में हो रही बारिश पर भारी ओलावृष्टि से तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है. मौसम विभाग की ओर से 23 अप्रैल के लिए भी भारी बारिश ओलावृष्टि को लेकर चेतावनी जारी की गई है.

क्या बोला मौसम विभागमौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह का कहना है कि प्रदेश के कई हिस्सों में बीते 2 दिनों से जमकर बारिश और ओलावृष्टि हो रही है. जबकि ऊपरी क्षेत्रों में बर्फबारी भी हो रही है. उन्होंने कहा कि शिमला शहर में 42 साल बाद सबसे ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है. शिमला में बीते 24 घंटों के दौरान 83 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है, जबकि इससे पहले 19 79 मैं शिमला शहर में 24 घंटों में 111 मिलीलीटर बारिश हुई थी. शिमला शहर व आसपास के क्षेत्रों में भारी ओलावृष्टि हुई है. शुक्रवार को भी प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश हो सकती है.

लाहाैल स्पीति में स्नोफॉल.

तापमान में गिरावट
बारिश ओलावृष्टि और बर्फबारी के चलते तापमान में भी काफी गिरावट दर्ज की जा रही है. केलांग में जहां तापमान माइन्स में पहुंच गया है. वहीं, शिमला सहित कई हिस्सों में तापमान में 5 से 6 डिग्री तापमान में गिरावट आई है. मौसम विभाग की मानें तो अप्रैल महीने में हिमाचल में सबसे ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है.

पेयजल स्कीमों को संजीवनी
हिमाचल प्रदेश में जनवरी-फरवरी में बर्फबारी काफी कम हुई थी. मार्च महीने में भी बारिश कम होने से पानी के स्रोत सूखने की कगार पर पहुंच गए थे, लेकिन अप्रैल माह में बारिश होने से जल स्त्रोतों को संजीवनी मिली है और प्रदेश में आने वाले दिनों में पानी के संकट से नही जूझना पड़ेगा.
बारलाचा पास पर रेस्क्यू
हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति में भारी हिमपात के चलते बारलाचा पास पर बड़ी संख्या में वाहन और लोग फंसे हुए थे. इन्हें बीआरओ की टीम ने रेस्क्यू किया है. टीम ने तीन दिन में कुल 244 बारलाचा से निकाले हैं. यहां 5 फीट से अधिक बर्फबारी हुई है.




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here