Home Himachal Pradesh हिमाचल में भारी बारिश, कांगड़ा में सबसे अधिक तबाही, 3 नेशनल हाईवे...

हिमाचल में भारी बारिश, कांगड़ा में सबसे अधिक तबाही, 3 नेशनल हाईवे बंद-Heavy rain in Himachal 3 National Highways closed devastation in Kangra hrrm– News18 Hindi

234
0

शिमला. हिमाचल प्रदेश में बीते एक माह का सूखा बारिश से बीते चौबीस घंटे में पूरा हो गया है. मॉनसून (Monsoon) ने हिमाचल में रौद्र रूप दिखाया है. बीते चौबीस घंटे में बारिश ने जमकर तबाही मचाही है. सूबे के कांगड़ा जिले में सबसे ज्यादा नकुसान हुआ है. यहां कई घर और गाड़ियां बही हैं. प्रदेश में सैंकड़ों सड़कें बंद हैं. हालांकि, अब मिली जानकारी के अनुसार, लेह-मनाली हाईवे (Leh-Manali Highway), औट-लूहरी-रामपुर हाईवे, शिमला-किन्नौर हाईवे लैंडस्लाइड के चलते बंद हो गए हैं.

जानकारी के अनुसार, हिमाचल में तीन दिन के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. इसी कड़ी में रविवार रात को ही प्रदेश में मूसलाधार बारिश शुरू हो गई, जो सुबह लगातार 9 घंटे तक होती रही. कांगड़ा जिले में तो कई जगह पर बादल फटे हैं. यहां खड्डे ऊफान पर हैं. धर्मशाला के मैक्लोडगंज के पास भागसूनाग में नाले में उफान आने पर सड़क पर पानी का तेज बहाव आग गया, जिससे पार्किंग में गाड़ियां बह गईं. कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई हैं.

धर्मशाला में बादल फटा

कुल्लू जिले का हाल

कुल्लू में मानसून की पहली मूसलाधार बारिश हुई है. सोमवार तड़के से हो रही भारी बारिश से जिला का जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है. पागलनाला में बाढ़ आने से औट-लारजी-सैंज मार्ग बंद हो गया. यहां सब्जियों के साथ निगम की बसें व अन्य वाहन फंसे गए हैं. हिमाचल पथ परिवहन निगम चार बसें फंस गई है. ब्यास, पार्वती, सरवरी खड्ड सहित जिला के नदी-नाले उफान पर हैं. मानसून की पहली बरसात में ही कुल्लू शहर पानी-पानी हो गया है. डीसी कुल्लू आशुतोष गर्ग ने कहा कि मंगलवार तक जिला में भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया है. ऐसे में लोगों व पर्यटकों से आग्रह किया गया है कि वह नदी नालों के समीप न जाएं.

हिमाचल में आफत की बारिश

कहांकंहा कितनी बारिश

हिमाचल में सबसे अधिक बारिश बीते चौबीस घंटे में कांगड़ा जिले में हुई है. यहां पर पालमपुर में 155 पानी बरसा है. वही, धर्मशाला में 119 एमएम, मनाली में 51 एमएम, कांगड़ा में 64 एमएम, कुल्लू के भुंतर में 51 एमएम, शिमला में 10 एमएम, चंबा के डलहौजी में 48 एमएम बारिश हुई है.

कांगड़ा में सबसे अधिक तबाही

हिमाचल में आफत की बारिश हो रही है. कांगड़ा-पठानकोट हाईवे पर राजोल में गज खड्ड पर बना पुल क्षतिग्रस्‍त हो गया है. यहां पुलिस तैनात कर दी गई है व वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से रोक दी है. हाईवे पर वाहनों की लंबी कतारें लग गई हैं. मांझी खड्ड में आए उफान पर है. चैतड़ू से ऊपर तीन मंजिला दो भवन बाढ़ की चपेट में आकर बह गए. शिला चौक के पास भी एक भवन खड में बह गया है. भारी बारिश का दौर अभी भी जारी है. लोगों ने अपने घर खाली किए हैं.

लेहहाईवे भी बंद हुआ

शिमला जिले में रात को रामपुर के समीप झाकड़ी में भारी बरसात के कारण एनएच-5 करीब 9 घंटे बंद रहा. मशीनरी के माध्‍यम से सुबह सवा नौ बजे हाईवे को खोल दिया गया है. लाहौल पुलिस के अनुसार, मनाली-लेह हाईवे पर पागल नाला, तेलिंग नाला, भरतपुर नाला में जलस्तर बढ़ गया है और यात्रा करना जोखिम भरा हो सकता है. सभी को एनएच-03 मनाली-लेह हाईवे पर बेवजह यात्रा न करने की सलाह दी जाती है. आपातकालीन स्थिति और सड़क की स्थिति के बारे में जानकारी के लिए संपर्क करें जिला आपदा नियंत्रण कक्ष 9459461355 और अधिक जानकारी के लिए आप इन नंबरों पर 8988098067, 8988098068 भी संपर्क कर सकते हैं.

मंडी में ट्रैफिक में बदलाव

मंडी पुलिस के अनुसार, मंडी जिला में हो रही बारिश के कारण थाना औट क्षेत्र के सन्दली में रुक-रुक कर भूस्खलन हो रहा है और कईं जगह भूस्खलन का खतरा बना हुआ है. इस कारण से कुल्लू से मण्डी आने वाले वाहनों को राष्ट्रीय उच्च मार्ग से वन-वे करके भेजा जा रहा है. वहीं, मण्डी से कुल्लू जाने वाले वाहनों को वाया कमांद-कटौला भेजा जा रहा है.

कैसा रहेगा हिमाचल में मौसम

हिमाचल प्रदेश के मौसम विज्ञान के शिमला केंद्र के अनुसार, सूबे में 12 और 13 जुलाई के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. यहां पर भारी से भारी बारिश का अनुमान है.इसके अलावा, हिमाचल में 17 जुलाई तक मौसम खराब रहने का अनुमान है.

Previous articleSCOOP: आदित्य रॉय कपूर संजय गुप्ता की शूटआउट 3: गैंग वार्स ऑफ़ बॉम्बे: बॉलीवुड समाचार
Next articleपेंटागन का कहना है कि वह अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान की तेज़ी से हो रही प्रगति पर नज़र रखने को लेकर “गहराई से चिंतित” है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here