Home Rajasthan 5 करोड़ रुपये कमाते हुए अंकित वेतन से गरीब बच्चों को कोचिंग...

5 करोड़ रुपये कमाते हुए अंकित वेतन से गरीब बच्चों को कोचिंग देकर आरएएस बन गया। – न्यूज18

131
0

الور अलवर के अंकित कुमार ओष्ठी देश में ऑनलाइन एजुकेशन ऐप के टॉप फैकल्टी में से एक हैं। इसका सालाना पैकेज 5 करोड़ रुपये है। अंकित ने अकेले कोरोना में सरकार को टैक्स के रूप में एक करोड़ रुपये का भुगतान किया है। हाल ही में उन्होंने खुद एक शिक्षक के यहां पढ़ाई करते हुए आरएएस की परीक्षा पास की थी। इसमें यह 235वें स्थान पर है। अंकित सिर्फ 200 रुपये में ऑनलाइन नहीं बल्कि जरूरतमंदों को ऑफलाइन कोचिंग देना चाहता है, ताकि गरीब परिवार के बच्चे आरएएस जैसे बड़े पदों पर पहुंच सकें।

अंकित का कहना है कि अलवर और आसपास के जिलों में गरीब परिवारों के बच्चों को आरएएस जैसे उच्च पदों पर लाने के लिए वे अपने वेतन से शिक्षकों की भर्ती कर शिक्षा प्राप्त करने का प्रयास कर रहे हैं. फिलहाल 28 सदस्यों की टीम ने इस पर काम शुरू कर दिया है। अंकित अपनी टीम को अपने वेतन से हर महीने करीब 44 लाख रुपये का भुगतान करता है। टीम कई तरह के काम कर रही है, जिसमें आरएएस टाइटल तैयार करना और किताबों को आसान बनाना शामिल है।

अंकित ने शिक्षा के क्षेत्र में छुआ आसमान

34 वर्षीय अंकित ओष्ठी अलवर के पटेल नगर में अपने पिता चहल बिहारी ओष्ठी के साथ रहते हैं। उनका गृहनगर कठूमार क्षेत्र में सुखरी है, जो अल-खवार जिला मुख्यालय से 90 किमी दूर है। अंकित ने महज साढ़े 14 साल में 12वीं, साढ़े 17 साल में बीएससी और साढ़े 19 साल में एमएससी की थी। इसके अलावा अंकित ऑर्गेनिक केमिस्ट्री में गोल्ड मेडलिस्ट रह चुके हैं। 20 साल की उम्र में उन्होंने ऑल इंडिया गेट परीक्षा में 41वां स्थान हासिल किया। उन्होंने 2010 में आईटी कानपुर से एम.टेक किया। फिर 2011 से 2018 तक कोटा बंसल विभागाध्यक्ष के पास क्लास में पहुंचे। 2016 में उन्हें आरएएस में 525वां स्थान मिला था। अब 235वें स्थान पर है।

ऑनलाइन एजुकेशन एप के जरिए पढ़ा रहे हैं अंकित

अंकित पिछले 2 साल से ऑनलाइन एजुकेशन ऐप के जरिए पढ़ा रहे हैं। यह पैकेज करीब 5 करोड़ का है। सरकार को 18% के आधार पर 1 करोड़ रुपये का टैक्स दिया गया है। उनके प्रत्येक व्याख्यान को एक दिन में 1 मिलियन लोग देखते हैं। सोशल मीडिया पर उसका अपना YouTube चैनल, फेसबुक अकाउंट है। जिसे लाखों लोग फॉलो करते हैं। अंकित ने कहा कि वह 11 साल से पढ़ा रहे हैं। बहुत पैसा कमाया सोशल प्लेटफॉर्म पर पत्रिकाओं का निर्माण तो खूब होता है, लेकिन सपना ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब और जरूरतमंद बच्चों को बड़ी नौकरी तक पहुंचाने का है। जिसके लिए वह मात्र 200 रुपये रजिस्ट्रेशन के साथ ऑफलाइन कोचिंग में पढ़ाने की योजना बना रहे हैं। जिसके लिए आरएएस उम्मीदवारों को कई लाख रुपये खर्च करने पड़ते हैं। इस काम को जल्द से जल्द पूरा करने की जरूरत है। देशभर के फैकल्टी उनके संपर्क में हैं। बहुत से लोग मदद करने को तैयार हैं। हम जरूरत पड़ने पर फैकल्टी को भी पैकेज पर रखेंगे। Affiliate Business में सफल होने के लिए आपको किस्मत से ज्यादा कुछ चाहिए। हमारा अनुभव और आत्मविश्वास इसमें काम करेगा।

पढ़ते रहिये हिंदी समाचार अधिक ऑनलाइन देखें See लाइव टीवी न्यूज़18 हिंदी वेबसाइट। देश-विदेश और अपने राज्य, बॉलीवुड, खेल जगत, व्यवसाय के बारे में जानें हिन्दी में समाचार.

Previous article‘शेर शाह’ के नए पोस्टर में नजर आए सिद्धार्थ मल्होत्रा, कारगिल के हीरो कैप्टन विक्रम बत्रा को हुई याद
Next articleमहिला ने दिया अजीब बच्चे को जन्म, जन्म के तुरंत बाद मौत, जानिए डिटेल्स – News18

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here